मंदसौर पहुंचने से पहले सिंधिया गिरफ्तार, 24 घंटे में तीन किसानों ने की आत्महत्या

किसानों से मिलने मध्यप्रदेश के मंदसौर जा रहे कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को पुलिस ने धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। मंदसौर में धारा 144 लागू होने के बावजूद सिंधिया मंदसौर जा रहे थे। पुलिस ने उन्हें समर्थकों के साथ गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी से पहले स‌िंधिया ने कहा कि ‘चाहे सरकार 144 धारा लगा ले मैं जाकर ही रहूंगा और मुझे जाने से कौन रोक सकता है। उन्होंने कहा कि वे किसानों की समस्याओं को जानने की कोशिश करुंगा। बता दें ‌कि  राज्य में 24 घंटे में 3 किसानों के खुदकुशी करने के मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएम शिवराज सिंह ने कल मंदसौर का दौरा करेंगे।

इससे पहले मध्यप्रदेश के मंदसौर में मारे गए किसानों के पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहे पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को नीमच से पुलिस ने हिरासत में लिया है। हार्दिक अपने समर्थकों के साथ वहां जा रहे थे।

थाना फूंकने की धमकी देने वाली वाली विधायक एक और वीडियो आया सामने

दूसरी ओर थाना फूंकने की धमकी देने वाली शिवपुरी की विधायक शकुंतला खटिक का एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें वह पुलिस को धमकी देते हुए दिखाई दे रही हैं। गौरतलब है कि उन पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है।

मंदसौर में किसान आंदोलन के वक्त थाने को जलाने की धमकी देने वाली कांग्रेस विधायक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है, फिलहाल शकुंतला फरार हैं। उनके हिंसा के भड़काने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। उधर मंदसौर में फायरिंग से हुई किसानों की मौतपर पीड़ित परिवारों से संवेदना व्यक्त करने के लिए सीएम शिवराज सिंह चौहान बुधवार को जिले का दौरा करेंगे। इसके साथ ही राज्य सरकार ने सोमवार को देर रात में गृह सचिव मधु खरे को हटाकर के केदार शर्मा को नया गृह सचिव बना दिया था।

इस वीडियो में दिख रहा था कि कांग्रेस विधायक किसानों को आगजनी और हिंसा के लिए उकसा रही थीं। शकुंतला खटीक शिवपुरी के करेरा से कांग्रेस की विधायक हैं। शकुंतला का जो वीडियो वायरल हुआ था उसमें शकुंतला अपने समर्थकों के साथ मुख्यमंत्री का पुतला जला रही थीं।

फायर बिग्रेड ने पानी डाला तो वह भी भीग गईं। नाराज विधायक बोलीं, ‘टीआई ने मेरे ऊपर पानी कैसे डाला? इस नालायक, भ्रष्टाचारी को तीन दिन में हटाओ। एसपी को बुलाओ, तब तक मैं धरना दूंगी। थाने में आग लगा दो।’

शिवराज के गृह जिले में किसान ने की आत्महत्या

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा 72 घंटे पहले दिए गए कर्ज माफ करने के आश्वासन के बावजूद किसानों द्वारा खुदकुशी करने का सिलसिला जारी है। खुद मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र सीहोर में एक किसान ने कर्ज न चुका पाने की स्थिति में खुदकुशी कर ली है।

इस किसान पर 6 लाख रुपये से अधिक का कर्ज था, जिसको वो चुका नहीं पाया था। इसी से परेशान होकर के 55 साल के दुलचंद ने जहर पीकर खुदकुशी कर ली है। किसान जिले की रेहटी तहसील के गांव जाजना का रहने वाला था।

मृतक किसान के बेटे शेर सिंह ने बताया घर में अकेले होने पर जहर पी लिया। शेर सिंह ने कहा कि पिता पर बैंक का चार लाख रुपये और अन्य जनों से लिय़ा गया 2 लाख रुपये बकाया था।

होशंगाबाद में किसान ने की खुदकुशी

सीहोर के बाद अब होशंगाबाद के सिवनी मालवा के रहने वाले 68 वर्षीय किसान माखन लाल दिगोलिया ने भी कर्ज से परेशान होकर के पेड़ से लटक कर के खुदकुशी कर ली है।

वहीं मंदसौर जाने की कोशिश कर रहे पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल को पुलिस ने नीमच में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अपनी तरफ से किसी भी नेता को मंदसौर जाने से रोक रही है ताकि वहां शांति स्थापित की जा सके।

LEAVE A REPLY