भाजपा के हमले पर कांग्रेस का जवाब, कहा- 41 महीने से है सत्ता, वाड्रा की कोई भी जांच करा लें

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के हमले के बाद, कांग्रेस ने आज कहा कि रॉबर्ट वाड्रा कोई ‘गलत काम’ कर रहे हैं या नहीं, यह पता लगाने के लिए प्रधानमंत्री को कोई भी जांच करानी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि वाड्रा पिछले 41 महीनों से ‘संदिग्ध’ बताएं जा रहे हैं। वो दिल्ली में संवाददाताओं से बात कर रहे थे। उन्होंने इस दौरान एक समाचार चैनल के रिपोर्ट पर टिप्पणी की जिसमें दावा किया गया था कि वाड्रा का हथियार के भगोड़े डीलर संजय भंडारी के साथ ‘संबंध’ थे। सुरजेवाला ने कहा कि जहां तक रॉबर्ट वाड्रा के संबंध में कोई आरोप हैं, हम केवल यहीं भी कहेंगे कि मोदीजी 41 महीने तक सत्ता में हैं। हरियाणा और राजस्थान में उनकी सरकार है, और किसी भी गलत काम जांच की स्वतंत्र और निष्पक्ष प्रक्रिया से करा के निष्कर्ष पर पहुंचें। सूरजेवाला ने कहा कि बीते 41 महीने से चल रही जांच में भाजपा अब तक एक भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकी है।

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के हथियार डीलर संजय भंडारी से कथित तौर पर संबंध पर रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर राहुल गांधी चुप क्यों हैं। कांग्रेस लीडरशीप भी इसका कोई जवाब नहीं दे रही है। इससे यह साफ होता है कि वे आरोप को स्वीकार कर रहे हैं।

सोमवार को एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भगोड़े आर्म्‍स एजेंट संजय भंडारी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा का टिकट बुक कराया था। इसी रिपोर्ट को लेकर केंद्रीय मंत्री ने सोमवार रात कांग्रेस नेता पर निशाना साधा था। ट्वीट के जरिए तंज कसते हुए कहा था ‘वाड्रा टिकटगेट पर व्यग्रता से राहुल जी के काव्यात्मक पोस्ट की प्रतीक्षा है।’

गौरतलब है कि एक निजी टीवी चैनल ने दावा किया है कि भगोड़े आर्म्‍स डीलर भंडारी ने 2012 में वाड्रा के लिए बिजनेस क्लास में टिकट खरीदा था। चैनल ने कहा है कि वाड्रा और उनके वकील ने भगोड़े आर्म्‍स डीलर के साथ रिश्ता होने से इन्कार किया था। आपको बता दें कि इससे पहले भी संजय भंडारी और रॉबर्ट वाड्रा के बीच लिंक पर सवाल उठ चुके हैं। पहले आरोप लगा था कि भंडारी ने साल 2016 में वाड्रा के फ्लैट का रेनोवेशन करवाया था।

LEAVE A REPLY